रसोई गैस की कीमत 21 रुपये प्रति सिलिंडर बढ़ा दी गई

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः जेट ईंधन के दाम में 9.2 प्रतिशत की भारी तेजी दर्ज हुई जबकि गैर-सब्सिडी वाले रसोई गैस की कीमत 21 रुपये प्रति सिलिंडर बढ़ा दी गई। तेल कंपनियों ने बुधवार को घोषणा की कि वैश्विक रुख के बीच लगातार चौथे महीने इसमें बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में जेट ईंधन (एटीएफ) का मूल्य 9.2 प्रतिशत 3,945.47 रुपये प्रति किलो बढ़कर 46,729.48 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गया। इससे पहले 1 मई को जेट ईंधन के दाम में 1.5 प्रतिशत और एक अप्रैल को 3,371.55 रपए (8.7 प्रतिशत) की बढ़ोतरी हुई थी। इससे पहले 1 मार्च को जेट ईंधन की कीमत 12 प्रतिशत बढ़ाकर 4,174.49 रुपये कर दी गई थी। स्थानीय बिक्री कर और मूल्यवद्धित कर (टैक्स) के कारण विभिन्न हवाईअड्डों पर दरें अलग-अलग हैं। विमानन कंपनियों की परिचालन लागत में जेट ईंधन का योगदान 40 प्रतिशत है और ताजा मूल्य वृद्धि नकदी संकट से जूझ रही विमानन कंपनियों का वित्तीय बोझ बढ़ेगा। विमानन कंपनियों से इस संबंध में कोई टिप्पणी उपलब्ध नहीं हो सकी कि इस मूल्य वृद्धि का सवारी किराए पर असर हो गया नहीं। इसी तरह तेल कंपनियों ने गैर-सब्सिडीशुदा एलपीजी के दाम भी बढ़ाए हैं और उपभोक्ताओं को 12 सिलिंडर का कोटा खत्म होने पर 14.2 किलो के हर सिलिंडर के लिए 21 रुपये अधिक अदा करने होंगे। यह लगातार दूसरे महीने मूल्यवृद्धि है।

Share This Post

Post Comment