बेरोजगार युवाओं को रोजगार से जोडने के लिए की जा रही पहल

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने वाले संस्थाओं की बैठक यहा जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता अपर कलेक्टर श्री ज्योति प्रकाश कुजूर ने की। बैठक में प्रशिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार से जोडने के लिए की जा रही पहल की विस्तार पूर्वक समीक्षा की गई। बैठक में श्री कुजूर ने कहा कि 14 वर्ष से 45 वर्ष आयु समूह के बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षित कर उन्हें रोजगार से जोडने के लिए मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना का संचालन किया जा रहा है। उन्होनें इस योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होनें मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत बेरोजगार युवाओं को शासकीय एवं अशासकीय व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाताओं द्वारा दी गई और दी जा रही प्रशिक्षिण के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। बैठक में जिला कौशल विकास प्राधिकरण के प्राचार्य श्री उमेश जायसवाल ने बताया कि कौशल प्रशिक्षण के तहत अब तक 31 व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाताओं द्वारा सात हजार 970 बेरोजगार युवाओं को विभिन्न टेड्रो में प्रशिक्षण प्रदान कर उन्हें प्रमाण पत्र प्रदान दिया गया है। इनमें से अब तक 3 हजार 365 बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। उन्होनें बताया कि शासकीय और अशासकीय व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाताओं द्वारा 61 बायोमैट्रिक डिवाइस इंस्टालेशन किया गया है। उन्होनें सभी शासकीय और अशासकीय व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाताओं को बायोमैट्रिक डिवाइस इंस्टालेशन कराने की बात कही। श्री जायसवाल ने बताया कि 25 मई की स्थिति में व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाताओं द्वारा 754 बेरोजगार युवाओं को विभिन्न टेड्रों में प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होनें बताया कि प्रशिक्षण में अब तक 17 लाख 73 हजार रूपये की राशि व्यय की गई है।

Share This Post

Post Comment