रॉल ऑफ-रॉल ऑन के शुभारंभ के साथ ही इसका उद‌घाटन

पटना, बिहार/नगर संवाददाताः पटना का बिहटा चीनी मिल अब फ्रेट टर्मिनल बन गई है। मालगाड़ी का ठहराव स्थल। बुधवार को ट्रकों को गंगा पार कराने की एक वैकल्पिक रेल सेवा रॉल ऑफ-रॉल ऑन के शुभारंभ के साथ ही इसका उद‌घाटन हो गया। दिन के ठीक 3.45 बजे रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने नई दिल्ली स्थित रेल भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रिमोट दबाया और बिहटा फ्रेट टर्मिनल में खड़ी पहली आरओ-आरओ ट्रेन तुर्की (मुजफ्फरपुर) के लिए चल पड़ी। यह ट्रेन करीब 88 किलोमीटर की दूरी तय कर पाटलिपुत्र जंक्शन होकर दीघा ब्रिज के रास्ते गंगा पार जाएगी। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि इस ट्रेन से डीजल की खपत में कमी आएगी, ट्रकों का टायर कम घिसेगा और ट्रकों का इंजन भी बचा रहेगा। साथ ही समय भी बचेगा। रेलवे को इस योजना से हर साल तीन सौ करोड़ कमाई की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि कोंकण रेलवे के बाद पूर्व मध्य रेल में यह सेवा शुरू हुई है। बिहटा में आयोजित समारोह में पूर्व मध्य रेल के जीएम आदित्य कुमार मित्तल, मनेर के विधायक भाई वीरेंद्र, सीसीएम महबूब रब, दानापुर के डीआरएम आरके झा, सीनियर डीसीएम अमिताभ प्रभाकर, सीपीआरओ अरविंद कुमार रजक आदि ने रेलमंत्री के रिमोट दबाने के बाद हरी झंडी दिखाई। मौके पर सीसीएम महबूब रब, मुख्य परिचालन प्रबंधक बीडी राय, मुख्य सिग्नल एवं दूरसंचार इंजीनियर एएन झा, दानापुर के डीआरएम आरके झा, सोनपुर मंडल के डीआरएम एमके अग्रवाल, सीपीआरओ अरविंद कुमार रजक, प्रीस्टिन ड्राई पोर्ट के डायरेक्टर संजय पवार, सोनपुर की वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त देवाशक्ति चट‌टोपाध्याय, दानापुर के संतोष एन चंद्रन सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।

Share This Post

Post Comment