प्रचंड गर्मी ने मासूम बच्चो पर भी कहर ढाया

जोधपुर, राजस्थान/नेमीचंद पाणेचाः जोधपुर जिले में बीते एक सप्ताह से पड़ रही प्रचंड गर्मी मासूम बच्चों पर भी कहर ढा रही है। उम्मेद अस्पताल और मथुरादास माथुर अस्पताल स्थित जनाना विंग में गत एक सप्ताह के दौरान करीब 6 शिशुओं की किडनी खराब हो गई है। प्रदेश में सूर्यदेव की गर्मी मासूम बच्चों पर कहर बरपा रही है। बीते एक सप्ताह में गर्मी ने 6 मासूम बच्चों की किडनी खराब कर दी है। अब इन बच्चों का इलाज जोधपुर के अस्प्तालों में चल रहा है। परिजन परेशान है और डॉक्टर इन बच्चों का इलाज कर रहे है। हालाँकि किडनी खराब होने के पीछे बच्चों के परिजन भी जिम्मेदार है। उम्मेद अस्पताल और मथुरादास माथुर अस्पताल स्थित जनाना विंग में गत एक सप्ताह के दौरान करीब 6 शिशुओं की किडनी पानी की कमी के कारण सूख गई। इन शिशुओं की उम्र दस दिन से लेकर तीन महीने तक है। एक्यूट किडनी इंजरी से ग्रस्त दो नवजात उम्मेद अस्पताल के आईसीयू और दो जनाना विंग के आईसीयू में भर्ती हैं। डॉक्टरों का कहना है कि मांग का पर्याप्त दूध नहीं मिलने से इन शिशुओं के गुर्दों ने काम करना बंद कर दिया। उम्मेद अस्पताल और मथुरादास माथुर अस्पताल के जनाना विंग के आउटडोर में हीट एग्जॉर्शन और हीट हाइपरपाइरेक्सिया से ग्रस्त शिशु आ रहे हैं। ये दोनों अवस्थाएं हीट स्ट्रोक से पहले की है। शरीर व अंग संवदेनशील होने से शिशु तेजी से डिहाइड्रेशन की चपेट में आ रहे हैं। एक्यूट रीनल फेलियर के अब तक आए छह बच्चों में बीमारी का मुख्य कारण डिहाइड्रेशन है।

Share This Post

Post Comment