पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या में शक की सुई जा रही मोहम्मद शहाबुद्दीन की ओर

सीवान, बिहार/नगर संवाददाताः सीवान में दैनिक हिंदुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या में शक की सुई राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की ओर जा रही है। शहाबुद्दीन जो फिलहाल सीवान जेल में हैं, के लिए रविवार का दिन बुरी खबर वाला रहा। पूर्व कांग्रेस नेता श्रीकांत भारती की हत्या के मामले में गिरफ्तार एक शूटर चवनी सिंह ने हत्या की सुपारी शहाबुद्दीन द्वारा देने की बात स्वीकार कर उनकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। श्रीकांत शर्मा 2010 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे। बाद में निर्दलीय और फिर भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए। बाद में वे ओमप्रकाश यादव के प्रवक्ता बन गए। उनकी हत्या 2014 में उसी स्टेशन रोड की सड़क पर की गई जहां शुक्रवार की शाम को राजदेव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। लेकिन श्रीकांत की हत्या का मामला अपराधियों की गिरफ्तारी न होने के कारण ठंडे बस्ते में चला गया था। लेकिन चवनी की गिरफ्तारी होने के बाद यह मामला फिर जीवित हो गया और रविवार को उसके पुलिस के सामने बयान के बाद यह मामला आने वाले दिनों में फिर से तूल पकड़ेगा। जहां तक राजदेव रंजन की हत्या का मामला है, इसमें अभी तक कोई गिरफ्तारी भले ही न हुई हो लेकिन शहाबुद्दीन के करीबी उपेन्द्र सिंह से पूछताछ के बाद पुलिस को लग रहा है कि रंजिश में उनकी भी हत्या की गई। पुलिस के अनुसार हत्या का स्थान रेलवे स्टेशन रोड है, जहां पर पहले भी दो हत्या पूर्व सांसद के इशारे पर कथित रूप से की  चुकी हैं। इसके अलावा वहां पर लगे सीसीटीवी का दो दिन पहले से बन्द होना, यह सब ऐसे कारण हैं जिससे शक फिलहाल शहाबुद्दीन पर जा रहा है। हालांकि परिवार वालों का कहना है कि इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए।

Share This Post

Post Comment