इस्लामिक जिहादी आतंकवाद के विरुद्ध वैचारिक युद्ध में विश्व का नेतृत्व करें-यति नरसिंहानंद सरस्वती जी

जयपुर, राजस्थान/विकास कुमारः गौ रक्षक दल के कार्यालय में प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुये यति नरसिंहानंद सरस्वती जी ने कहा की अब समय आ चुका है की हिन्दू धर्म गुरु एक दूसरे से लड़ना छोड़कर इस्लामिक जिहादी आतंकवाद के विरुद्ध वैचारिक युद्ध में विश्व का नेतृत्व करें। यदि हिन्दू धर्मगुरुओ ने ऐसा नहीं किया तो दुसरो को मोक्ष की गारन्टी देने वाले ये धर्मगुरु केवल नर्क के भागी बनेगे और इन्हें कुछ भी नहीं मिलेगा।आज संत समाज के बहुसंख्यक लोग आध्यात्मिकता के नाम पर कायरता को बढ़ावा दे रहे हैं जो बिलकुल धर्म विरुद्ध है। हमारा पिछला 1300 वर्ष का इतिहास हमे बताता है की कुछ अपवादों को छोड़कर हमारे अधिकांश धर्मगुरु अपने कर्तव्य पालन में विफल रहे हैं जिसका दण्ड हमारी माता,बहनो और बेटियो को भुगतना पड़ा है।यदि हमारे धर्मगुरु श्रीराम और श्रीकृष्ण के रास्ते पर चले होते तो ये देश कभी भी गुलाम नहीं होता और करोडो निर्दोष हिन्दुओ की कभी भी यूँ बलि नहीं चढ़ी होती।आज भी हमारे अधिकांश धर्मगुरु धर्म के नाम पर जो पाखण्ड खड़ा कर रहे हैं वो हिन्दुओ को विनाश की ओर ले जाएगा। कोई धर्मगुरु मेरी बात से असहमत है तो मैं उसे शास्त्रार्थ की चुनौति देता हूँ। जो भी संत या धर्मगुरु चाहे वो हरिद्वार गंगा के तट पर मुझसे शास्त्रार्थ करे यदि मैं हारा तो गंगा जी में जल समाधि ले लूँगा और यदि वो हारे तो फिर वो आध्यात्मक के नाम पर फैलाये जा रहे ढोंग और पाखण्ड को छोड़ कर हिन्दुओ को बचाने के लिये श्रीराम और श्रीकृष्ण के धर्म का प्रचार करेंगे। उन्होंने कहा की शास्त्रार्थ का आधार रामायण और महाभारत होगा क्योंकि इन्ही दो पुस्तको में भगवान का प्रमाणिक जीवन चरित्र है जिसपर हर हिन्दू विश्वास करता है।शास्त्रार्थ की तिथि चुनौती देने वाले की सुविधा से तय की जायेगी। प्रेस वार्ता में हिन्दू स्वाभिमान के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष बाबा परमेन्द्र आर्य ने कहा की चौथी हिन्दू संसद को हिन्दू जनता और संत समाज से मिले अभूतपूर्व समर्थन ने सम्पूर्ण हिन्दू समाज को एक अच्छा सन्देश दिया है। परन्तु ये केवल एक छोटा सा कदम था,अब इस कार्य को बढ़ाने का समय आ चुका है। केवल हम ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व इस्लामिक जिहादी आतंकवाद से सहम चूक है।आज पुरे विश्व में हजारो इस्लामिक जिहादी आतंकवादी संगठन हैं जो हर जगह निर्दोष नागरिको की हत्या कर रहे हैं।वैचारिक विश्वगुरु होने के नाते ये हमारा कर्तव्य है की हम इस समय विश्व को बचाने के लिये आगे आये और विश्व को बताये की जो आज उनके यहां हो रहा है,वो हमारे यहाँ 1300 साल से हो रहा है।आज विश्व में हो रहे इस भयंकर अत्याचार के हम शिकार और दोषी दोनों हैं क्योंकि आज विश्व जिहाद का नेतृत्व आज वो लोग कर रहे हैं जो कभी हिन्दू थे।आज इस्लामिक जिहादी आतंकवादियों के सबसे बड़े विचार केंद्र भारत और पाकिस्तान में ही हैं।ऐसे में हमारी जिम्मेदारी सबसे अधिक है।। बाबा परमेन्द्र आर्य ने बताया की हम अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटेंगे।हिन्दू स्वाभिमान इस्लामिक जिहादी आतंकवाद पर दिल्ली में विश्व धर्म संसद का आयोजन करेगा जिसमे मुस्लिमो के अलावा सभी पुरे विश्व से सभी धर्मगुरु निमन्त्रित किये जाएंगे। बाबा परमेन्द्र आर्य ने गौ रक्षक दल गोविंदगढ़ के प्रवक्ता यति कृष्णानन्द सरस्वती जी महाराज को हिन्दू संसद में राजस्थान प्रदेश का संत समाज की ओर से प्रतिनिधित्व करने पर आभार व्यक्त किया है । हिन्दू स्वाभिमान की ओर से गौ रक्षक दल गोविन्दगढ़ के अध्यक्ष शेर सिंह कुमावत, संरक्षक सरपंच गोपाल डेनवाल एवं कार्यकर्ताओं को उनके उत्कृष्ट धर्म एवं गौ रक्षा के कार्यो के लिये सम्मानित किया गया। इस अवसर पर वार्डपंच अर्जुनलाल, राजू फौजी, समुद्रसिंह, संदीप अग्रवाल, अरुण लखेरा, रामसिंह निठारवाल, महावीर यादव सहित कई लोग मौजूद थे |

Share This Post

Post Comment