अखिलेश यादव से मिलकर मुसलमानों से किए गए वादों की याद दिलाई

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी ने बृहस्पतिवार को समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर मुसलमानों से किए गए वादों की याद दिलाई। उन्होंने मुलायम से पूछा कि किसी मुस्लिम को राज्यसभा प्रत्याशी क्यों नहीं बनाया गया? उन्होंने आतंकवादी होने के आरोप में पकड़े गए बेगुनाहों की रिहाई और मुसलमानों को आरक्षण देने जैसे मुद्दे भी उठाए। सैयद अहमद बुखारी प्रदेश सरकार पर 2012 के चुनाव में मुलसमानों से किए गए वादों से मुकरने का आरोप लगा रहे हैं। इसी मुद्दे पर उन्होंने राजधानी में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। उन्होंने प्रदेश की हुकूमत को कुछ वक्त दिया था। मुसलमानों से जुड़े सवालों पर 24 मई को फिर राजधानी में मीडिया से मुखातिब होने की बात भी उन्होंने कही थी। सपा मुखिया मुलायम सिंह ने उन्हें इस मसले पर बातचीत के लिए बुलाया था, ताकि वह सूबे की अखिलेश यादव सरकार को कठघरे में खड़ा न करें।

Share This Post

Post Comment