शराब के ठेके को बन्द करने की मांग लेकर धरने पर बेठी महिलाओं ने दे दी आत्महत्या करने की चेतावनी

बीकानेर, राजस्थान/रामेश्वर लाल शर्माः बीकानेर के गंगाशहर स्थित कुम्हारो की मोड़ पर शराब के खुलने वाले ठेको लेकर महिलाओं द्वारा किए जा रहे उग्र विरोध प्रदर्शन के बारे में आज पहले ग्रुप में समाचारो को पढ चुकें होंगे आप, वैसे तो यहां पिछले कई दिनो से आंदोलन चल हो रहा है और यह आंदोलन बीकानेर शहर के गंगाशहर में नये खुले शराब के ठेेके को बंद करने को लेकर स्थानीय लोगों के द्वारा किया जा रहा है। यहां शराब की दुकान आवंटित होने के बाद से अब तक दुकान को खोलने नही दिया जा रहा है और लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। पर आज शुक्रवार दोपहर को काग्रेंस नेत्री सुनीता गौड़ को भनक लगी की शराब के ठेकेदार द्वारा शराब को दुकान में रखकर दुकान को खोलने की तैयारी की जा रही है। वहां पर धरना दे रही महिलाएं भड़क गई और सैकड़ों की तादाद में महिलाओं और पुरूषों ने सड़क मार्ग को जाम कर दिया तो वहीं 6 महिलाएं सड़क पर सो गई गई और शराब की दुकान को पूर्णतया से बंद कराने की मांग को लेकर फांसी का फंदा डालकर आत्महत्या की चेतावनी दे डाली। घटना की जानकारी मिलने पर गंगाशहर थानेदार दर्जा राम बॉस मौके पर पहुंचे और महिलाओं से समझाइश का प्रयास किया काफी मशक्कत के बाद सड़क के रास्ते पर बेठी महिलाएं वहां से हटने को मानी और मार्ग से हटने को राजी हुई। घटना की गंम्भीरता को देखते हुए थाना अधिकारी ने नेताओं जिनमें सुनिता गौड़ ,गोपाल केशावत, अब्दुलरहमान लोदरा, पुनित डाल और महिलाओं से समझाइश का प्रयास किया पर महिलाएं शराब के ठेके को बंद करने की मांग पर अड़ी रही है।

Share This Post

Post Comment