आखिर एक ही महिला दोनों की पार्टियों के लिए वोट कैसे मांग सकती है?

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः तमिलनाडु में चुनाव से पहले भले ही कई फ़िल्म स्टार्स यहां की पार्टियों के लिए प्रचार कर रहे हो और हर कोई एक पार्टी का समर्थन करते देखा जाता है. लेकिन सवाल ये कि क्या कोई दोनों ही पार्टियों के लिए वोट मांग सकता है? यानी एआईएडीएमके और प्रतिद्वंदी डीएमके के लिए. तमिलनाडु में ये दिलचस्प मामला सामने आया है जहां एक वरिष्ठ आर्टिस्ट दोनों ही एआईएडीएमके और डीएमके के लिए वोट मांग रही है. इन दिनों तमिलनाडु में जिन लोगों ने भी एआईएडीएमके और डीएमके के ये एड देखे वो इस सोच में पड़ गए कि आखिर एक ही महिला दोनों की पार्टियों के लिए वोट कैसे मांग सकती है? एआईएडीएमके के एड में कस्तूरी कहती है कि मुझे कोई खाना देने वाला नहीं, ये तो अम्मा की मेहरबानी है कि में खाना खा पा रही हूं. तो दूसरे एड डीएमके में महिला कहती है कि “हर वक़्त हवा में उड़ने वालों को लोगों का दर्द कैसे पता चले? अब बस हो गया. दरअसल दोनों पार्टियों के लिए एड बनाने वालों के एक ही एजेंट है जिसने दोनों ही एड के लिए कस्तूरी को बुलाया. एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कस्तूरी ने कहा कि उन्हें तो ये पता ही नहीं था कि एड किसी राजनितिक दल के लिए थे. उन्हें डायलॉग बोलने को कहा गया और उन्होंने बोल दिया. एक छोटे से मकान में रहने वाली कस्तूरी अब किसी स्टार से कम नहीं जिसकी एक्टिंग को हर कोई सराह रहा है. साथ ही जब कस्तूरी से पूछा गया कि उन्हें कौनसी पार्टी पसंद है तो जवाब उनका कूटनीतिक निकला. उनका कहना था कि जो भी जनता के लिए काम करे. और वो खुद दोनों ही पार्टियों को वोट देना चाहती हैं. कस्तूरी एक एक्टर है जिसने कई फिल्मों में भी काम किया है. अम्मा कैंटीन ले जा कर उन्हें खाना और 1500 रूपये दिए गए तो डीएमके ने एड के लिए 1000 रूपये दिए. साफ़ है डीएमके और एआईएडीएमके ने अपने एड में एक ही महिला को काम करवा कर जहां खुद को हंसी के घेरे में दाल दिया है तो कन्फ्यूज्ड वोटर को और भी कंफ्यूज़न में दाल दिया है

Share This Post

Post Comment