रोडरेज की घटना की तुलना में दिल्ली और पठानकोट तक गिना डाला

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः दो दिन पहले डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने गया में हुई रोडरेज में हत्या की घटना की तुलना पठानकोट के आतंकी हमले से कर दी थी. इस बयान को लेकर जब तेजस्वी यादव की खूब आलोचना हो रही है. उनकी राजनीतिक समझ पर सवाल उठ रहे हैं. बेटे को घिरता देख अब खुद बिहार के पूर्व सीएम लालू यादव ने मोर्चा संभाल लिया है. उन्होंने कहा है कि तेजस्वी ने कुछ भी गलत नहीं कहा है. बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) उनके बेटे के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही है. उधर तेजस्वी यादव को भी अपनी गलती का एहसास हो गया है इसलिए वे अपने बयान पर सफाई दे रहे हैं. बिहार में रोडरेज की घटना को लेकर जब एक सवाल पूछा गया तब तेजस्वी भड़क गए और गया रोडरेज की घटना की तुलना में दिल्ली और पठानकोट तक गिना डाला. गया में बिहार के सीएम नीतीश की पार्टी जेडीयू (जनता दल युनाइटेड) के एमएलसी (विधायक) के बेटे ने मामूली सी बात को लेकर बीच सड़क पर एक छात्र को गोली मार दी. ऐसी घटनाओं के बाद सवाल उठना जायज़ है कि क्या लालू-नीतीश के गठबंधन के बाद बिहार में एक बार फिर जंगलराज आ गया है. जब यही सवाल दोनों पार्टी के नेतओं से पूछा जाता है तो उन्हें गुस्सा आ जाता है.

Share This Post

Post Comment