जागरूकता रैली द्वारा किया गया जिज्ञासुओं को जागरूक

जागरूकता रैली द्वारा किया गया जिज्ञासुओं को जागरूक

नई दिल्ली/अरविंद यादवः सिंहस्थ महाकुंभ में दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के संस्थापक श्री आशुतोष महाराज जी के युवा ब्रह्मज्ञानी शिष्यों द्वारा ध्वज के साथ जन कल्याण की भावना से ओत प्रोत होकर जागरूकता रैली का शंखनाद क्षिप्रा घाट से किया। जिसमें अध्यात्मिक संदेशों व ग्रंथों के गुढ़तम रहस्यों का सरलीकरण करते हुए, महाकुंभ में प्रत्येक आगंतुक तक पहुंचाए गए। जिसमें बताया गया कि जिस ब्रह्म-शक्ति से मनुष्य बोलता व संवाद करता है, जो समस्त ऐंद्रिक अनुभवों का कारण हैं, वह ब्रह्म शक्ति प्रत्यक्ष रूप से अनुभवगम्य है अर्थात उस ईश्वर को देखा जा सकता है। वही मानव का चैतन्य है, किंतु उस दिव्य स्वरूप से संबंध स्थापित करने के लिए आवश्यक है मानव के जीवन में एक तत्वज्ञानी गुरू का होना। जिसे भगवान शिव ने स्वयं गुरू-गीता में परम-गुरू कहा है। महाकुंभ में पहुंचे असंख्य ईश्वर दर्शन के अभिलाषी तथा असंख्य पिपासु-आत्माओं ने अपने अध्यात्म से संबंधित असंख्य प्रश्नों के समाधान प्राप्त कर ब्रह्मज्ञान प्राप्ति की जिज्ञासा प्रकट की।

Share This Post

Post Comment