उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग अभी पूरी तरह थमी नहीं

देहरादून, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग अभी पूरी तरह थमी नहीं है. इस आग ने पिछले चार सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. ये आग अब जिम कार्बेट और राजाजी नेशनल पार्क तक फैल गई है. जिम कार्बेट नेशनल पार्क का 198 एकड़ इलाका आग की चपेट में आ चुका है. जंगल में फैलती आग को काबू करने के लिए वायुसेना के हेलीकॉप्टर जुटे हुए हैं. इसके अलावा एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, राज्य पुलिस और वन विभाग की कई टीमें भी लगी हुई हैं. उत्तराखण्ड के जंगलों में पिछले तीन हफ्तों से आग लगी हुई है. केंद्र सरकार का दावा है कि हालात अब नियंत्रण में हैं. केन्द्र सरकार की मानें तो 90 फीसदी आग पर काबू पा लिया गया है. जंगलों में लगी आग से इलाके में वायु प्रदूषण काफी बढ़ गया है. इससे हिमालय के ग्लेशियरों का जल्दी पिघलने का खतरा भी बढ़ गया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक नैनीताल के आर्यभट्ट इंस्टीट्यूट फॉर ऑब्जर्वेशनल साइसेंस और जीबी पंत इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन इनवायरमेंट एंड डेवलपमेंट का कहना है कि आग के कारण धुएं और राख ने ग्लेशियर को घेर लिया है. इससे गर्मी भी बढ़ी है. यही कारण बन सकता है ग्लेशियर के पिघलने का. ग्लेशियर पिघले तो उत्तराखंड में बहने वाली नदियों में पानी अचानक बढ़ जाएगा. ये अलग विपदा हो सकता है जो बाढ़ का कारण बन सकती है. जंगल की आग से उत्तर भारत में पारा 0.2 डिग्री पारा बढ़ा है. इससे बारिश पर असर पड़ सकता है. उत्तराखंड में वायु सेना के तीन हेलिकॉप्टर को आग बुझाने के ऑपरेशन में लगाया गया है. कल वायु सेना के हेलिकॉप्टर से 45 हजार लीटर पानी की बारिश की गई थी

Share This Post

Post Comment