ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे का मुद्दा उठाकर कांग्रेस को घेरने की कोशिश

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस-वाम गठबंधन का मुकाबला कर रही तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को राज्यसभा में ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे का मुद्दा उठाकर कांग्रेस को घेरने की कोशिश की तथा सवाल किया कि सौदे में कथित तौर पर रिश्वत मांगने वाले ‘गांधी’ और ‘एपी’ कौन हैं? शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए तृणमूल कांग्रेस के सुखेन्दु शेखर रॉय ने सवाल किया कि 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीदने के लिए हुए सौदे में रिश्वत किसने ली। टीएमसी ने नामों का खुलासा करने की मांग की। दूसरी ओर, राज्यसभा में बार-बार हंगामे की वजह से दोपहर में कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी। इस बीच, राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी ने तृणमूल कांग्रेस सदस्य सुखेंदु शेखर राय के खिलाफ नियम 255 लागू करते हुए उन्हें पूरे दिन के लिए सदन से बाहर रहने को कहा। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री को बयान देना है। सरकार चुप क्यों है? (ऑगस्‍टा वेस्टलैंड सौदे में कथित तौर पर रिश्वत लेने वाले) यह एपी कौन हैं। गांधी कौन हैं? राय ने मांग की कि अन्य कामकाज निलंबित कर इस मुद्दे पर तत्काल चर्चा की जाए और रक्षा मंत्री सदन में जवाब दें। उन्होंने कहा कि सरकार रिश्वत लेने वालों की पहचान उजागर करे। संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि बुधवार को सदन में ऑगस्‍टा वेस्‍टलैंड पर चर्चा होनी है। उन्होंने कहा कि चर्चा में दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके सदस्यों को चर्चा के लिए होमवर्क कर आना चाहिए। इस बीच, कांग्रेस सदस्य कैग की रिपोर्ट में गुजरात के केजी बेसिन में कथित अनियमितताओं का जिक्र किए जाने के मुद्दे पर चर्चा करने और प्रधानमंत्री की ओर से इस पर जवाब दिए जाने की मांग कर रहे थे। नकवी ने उन पर आरोप लगाया कि वे ऑगस्‍टा वेस्‍टलैंड (हेलीकॉप्टर) सौदे से ध्यान हटाने का प्रयास कर रहे हैं। उप सभापति पीजे कुरियन ने कहा कि शून्यकाल में कामकाज निलंबित करने का कोई नियम नहीं है। साथ ही, उन्होंने सुखेन्दु शेखर राय के नोटिस को खारिज कर दिया।

Share This Post

Post Comment