बीजेपी-कांग्रेस की जुबानी जंग के बीच अब सरकार ने जांच के साथ आगे बढ़ने की बनाई योजना

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः संसद में आज भी अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील पर संग्राम जारी रहने के आसार हैं। बीजेपी-कांग्रेस की जुबानी जंग के बीच अब सरकार ने जांच के साथ आगे बढ़ने की योजना बनाई है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि सरकार यह मानती है कि मौजूदा दस्तावेज सोनिया गांधी और दूसरे कांग्रेस नेताओं पर मुकदमा चलाने या उन्हें सजा देने के लिए पर्याप्त नहीं हैं। इसकी जांच के लिए यह पता करना जरूरी है कि घूस की रकम कहां गई? इससे पहले गुरुवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के उस बयान पर निशाना साधा, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह किसी से नहीं डरतीं। शाह ने कहा कि वह नहीं डरती हैं, लेकिन बीजेपी संविधान, लोकलाज से डरती है। इधर, कांग्रेस ने भी अपने बचाव में हमलावर रुख़ अपना रखा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा मामले में संलिप्तता के भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आरोपों से इनकार किया और कहा कि अगर उनके खिलाफ कुछ भी गलत पाया जाता है, तो उन्हें फांसी पर लटका दिया जाए। पटेल ने कहा कि ये आरोप निराधार हैं। वे किस आधार पर मेरा नाम ले रहे हैं? मेरा लिखा कुछ नहीं है। मैंने कुछ नहीं लिखा। यह दुर्भावनापूर्ण है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार आरोप लगा रही है तो उसे जांच भी करनी चाहिए। अगर मेरे खिलाफ कुछ भी गलत पाया जाता है तो उन्हें मुझे फांसी पर लटका देना चाहिए। कांग्रेस के एक अन्य नेता ऑस्कर फर्नांडीस ने कहा, यदि सरकार के पास कोई सूचना है, तो उसे सामने लाए और सदन में बयान दे।

Share This Post

Post Comment