फ्लोराइड प्रदूषित पानी पीकर विकलांग व असमय बूढ़े

मुंगेर, बिहार/नगर संवाददाताः बिहार के नक्सल प्रभावित जिला मुंगेर के हवेली खड़गपुर स्थिर खैरा गांव में यह मौत का सामान है। फ्लोराइड प्रदूषित पानी पीकर यहां के वाशिंदे विकलांग व असमय बूढ़े हो रहे है। गांव की इस समस्या के कारण यहां दूसरे गांव के लोग अपनी बेटियों की शादी करना नहीं चाहते है। खैरा गांव के भूजल में स्वीकृत मात्रा से काफी अधिक फ्लोराइड है। पीएचईडी के सहायता अभियंता अजित कुमार कहते हैं कि जमीन में एक पीपीएम तक फ्लोराइड रहे तो उसका स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर नहीं पड़ता, लेकिन यहां पानी में इसकी मात्रा 3.5 से लेकर 4.5 पीपीएम तक है। जल में इसकी अधिकता फ्लोरोसिस नामक बीमारी का कारण बन गई है।

Share This Post

Post Comment