ससुराल में सभी मारपीट कर जान से मारने की कर रहे कोशिश

गुरदासपुर, पंजाब/नगर संवाददाताः गांव भसवाल मुल्लांपुर के सरपंच कुलदीप सिंह ने पुलिस पर आरोप लगाया कि बेटी के गांव पहुंच कर पुलिस को करीब 7 बजे बताया गया, लेकिन पुलिस रात तक नहीं आई। करीब 1 बजे रात को मायके वालों के साथ वह चौकी उदनवाल पहुंचे तो चौकी वालों ने कहा कि रात है सुबह आएंगे।  लाश के पास ही रहो। मां अमरजीत कौर के बताया कि शुक्रवार को शाम करीब साढ़े 3 बजे प्रदीप कौर ने फोन पर बताया कि जेठ जगमोहन, देवर रमनदीप, मलकीत उससे जबरदस्ती की कोशिश कर रहे हैं। बेटी कह रही थी मां मुझे बचा लो ससुराल में सभी मारपीट कर जान से मारने की कोशिश कर रहे हैं। करीब साढ़े छह बजे वे प्रदीप के ससुराल पहुंचे तो देखा उसकी मौत हो चुकी थी। उसके गले में रस्सी के निशान थे। इसके बाद पुलिस को सूचित किया गया। फिर परिवार वालों ने 181 नंबर पर भी शिकायत दर्ज करवाई गई लेकिन उसका भी कोई फायदा नहीं हुआ। सुबह परिवार ने एस.एस.पी. के पास मामला उठाया तो पुलिस ने केस दर्ज किया। तब तक ससुराल वाले फरार हो चुके थे।  थाना घुमान के एस.एच.ओ. जरनैल सिंह ने बताया कि मृतका के पिता गुरदेव सिंह के ब्यान पर पति रजिंदर सिंह, सास दविंदर कौर, जेठ जगमोहन सिंह, देवर रमनदीप मलकीत पर मामला दर्ज किया गया है। ससुराल में कुछ देर तो सब ठीक रहा, लेकिन करीब एक साल बाद प्रदीप के ससुराल में रह रहे कुंवारे जेठ जगमोहन, देवर रमनदीप और मलकीत ने जबरदस्ती की कोशिश की। प्रदीप ने सास को बताया तो मामला और बिगड़ गया। इसके बाद सास दविंदर कौर, देवर मलकीत सिंह, रमनदीप सिंह और जेठ जगमोहन ने मारपीट शुरू कर दी।

Share This Post

Post Comment