किसान ने लगाया मौत को गले

मोगा, पंजाब/नगर संवाददाताः चंद सिंह शुक्रवार को फसल बेचकर घर लौटा तो करीब 8.30 बजे खाना खाकर सो गया। सुबह करीब 7 बजे चंद सिंह की पत्नी अमनदीप कौर उसे देखने ऊपर गई तो उसके मुंह से झाग निकल रही थी। उसने शोर मचाकर परिवार और गांव के लोगों को इकट्ठा किया। जब तक चंद सिंह को डॉक्टर के पास ले जाया गया। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। वहीं अबोहर जिले के गांव कुंडल निवासी एक युवा किसान ने गेहूं का झाड़ कम निकलने पर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पिता ने बताया कि फसल अच्छी न होने के कारण सिर पर कर्जा भी काफी चढ़ गया था। इसी बात से आहत गुरप्रीत ने गत रात्रि  फंदा लगा लिया उधर, मानसा जिले के गांव झुनीर के किसान गुरदेव सिंह ने खेत में फंदा लगा लिया। बेटे अमृतपाल सिंह ने बताया, उनके पास 3 एकड़ जमीन है तथा 5 एकड़ ठेके पर लेकर खेती की थी, लेकिन नरमे की फसल बर्बाद होने के अलावा एक लाख रुपए पारिवारिक सदस्य के इलाज पर खर्च हो गया, जिसके चलते उन पर बैंक, आढ़तिए तथा सहकारी सोसाइटी का 5लाख कर्ज हो चुका है। पिता गुरदेव सिंह अक्सर परेशान रहते थे। इसी परेशानी में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।

Share This Post

Post Comment