बालु माफिया पर परिवहन विभाग की दया दृष्टि

गुमला, झारखंड/संदीपः झारखंड में आज बालु का कारोबार बहुत तेजी से चल रहा है। प्रतिदिन हजारों की संख्या में ट्रकों द्वारा बालू ढोया जा रहा है। और इस काम में सारे नियमों को ताल में रखा जा रहा है। ट्रकों की दुलाई की क्षमता से दुगना अधिक बालू ढोया जा रहा है। जिस पर परिवहन विभाग के कर्मचारियों की नजर नहीं पड़ रही है। और अगर एक दो गाड़ी पकड़ में आ जाती है तो कुछ ले देकर मामला दबा दिया जाता है। आज झारखंड के ग्रामीण सड़कों का बुरा हाल है। इसका कारण भी बालु है। क्योंकि जिस सड़क से बालु का निकास होता है वो नदी ग्रामीण क्षेत्रों में है। और ग्रामीण सड़क 40 टन भार उठाने के लिए सक्षम नहीं है। पर इस ओर कभी परिवहन विभाग के अधिकारियों का ध्यान नहीं जाता है।

Share This Post

Post Comment