शीतला माता मंदिर में सैकड़ों साल पुराना चमत्कार

पाली, राजस्थान/समंदर सिंहः पाली जिले के भाटूद स्थित शीतला माता मंदिर में शीतला सप्तमी के मौके पर मंदिर में माता की प्रतिमा के सामने स्थित आधा फीट गहरी और चोड़ी ओखली श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोली जाती है। मान्यता के अनुसार गांव की करीब 800 से ज्यादा क्षमता के पानी के भरे कलश इसमें उड़ेले। लेकिन दो घंटे के बाद एक के बाद एक कलश खाली होते रहे। लेकिन यह पानी कहा गया किसी को नहीं पता ओखली से पत्थर साल भर में दो बार हटाया जाता है पहला शीतला सप्तमी पर दूसरा ज्येष्ठ माह की पूनम पर मान्यता है कि बाबरा नाम राक्षस के अत्याचारों को खत्म करने के लिए शीतला माता ने उसका संहार किया। मरने से पहले बाबर राक्षस ने पानी पीने का वरदान मांगा था।

Share This Post

Post Comment