मोदी जी की सभा स्थल पर किसानों का प्रदर्शन

बेलगाम, कर्नाटक/डुंगरसिंह राजपूतः बेलगाम में 27 फरवरी को कलसा-बंडूरी परियोजना को लेकर आंदोलन किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की रैली का विरोध करते हुए। आयोजन स्थल पर पहुंचने की कोशिश की। किसानों के तीव्र विरोध को शांत करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया गया और सैकड़ों किसानों को हिरासत में लिया गया। इससे पहले आंदोलनकारी किसानों को रानी चन्नामा सर्किल से आगे जाने की अनुमति नहीं दी गई।तो वे उपायुक्त कार्यालय के सामने धरना पर बैठ गए। और मामला तब बिगड़ा जब किसान धरने से उठकर प्रधानमंत्री की रैली के आयोजन स्थल पर जाने लगे तो इस दौरान किसानों ने सड़क मार्ग जाम कर दिया गया। और रैली में जा रहे भाजपा समर्थकों की गाड़ियों को रोकने लगे। फिर कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया गया। और इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के खिलाफ नारेबाजी लगा रहे थे । और काला झंडा दिखा रहे उन सैकड़ों किसानों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया। कर्नाटक राज्य के रैय्यत संघ के अध्यक्ष कोडिहल्ली चंद्र शेखर ने कहा कि यह विरोध प्रदर्शन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के खिलाफ है। उन्होंने महादायी नदी पर कलसा-बंडूरी परियोजना के निर्माण के लिए हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया एवं उसका समाधान करने का प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि वे इस समस्या का हल निकालेंगे। लेकिन नरेंद्र मोदी जी ने यह कहकर परियोजना से दूरी बना ली कि मामला पंचाट के अधीन है और मुख्यमंत्री जी सिध्दरामय्या को गोवा एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों से मिलकर पंचाट से अलग उचित समाधान निकालने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा है कि यह आंदोलन पिछले 200 दिनों से यह चल रहा है। और तब तक जारी रहेगा जब तक लक्ष्य हासिल नहीं हो जाए। और यह आंदोलन तीन जिलों की पेयजल समस्या के समाधान के लिए है।

Share This Post

Post Comment