आंदोलन में हिंसा फैलाने के मामले में 535 केस दर्ज

अजय गुप्ता, हरियाणा, हरियाणाः जाट आरक्षण प्रदर्शन के दौरान आंदोलन में हिंसा फैलाने के मामले में 535 केस दर्ज करके 127 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इस आंदोलन के दौरान 28 व्यक्तियों की मौत हुई और करीब 200 लोग घायल हुए। बीजेपी विधायक असीम गोयल ने कहा कि कांग्रेस और उसके नेता लाशों पर राजनीति करके अपने आदमखोर भेड़िया और दरिंदे होने का सबूत दे रहे हैं हरियाणा के दस दिन तक जलने का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ते हुए गोयल ने कहा कि सत्ता के लालची कांग्रेसियों ने ये घिनोना काम कराके अपने इंसान ना होने का भी परिचय दिया है हरियाणा के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री कर्णदेव काम्बोज ने कहा कि प्रदेश में आगजनी तोडफ़ोड़ व सरकारी या जनता की निजी सम्पतियों के नुकसान की भरपाई दंगाइयों की सम्पति कूर्क करके की जानी चाहिए। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में जिस प्रकार से कुछ हुड़दंगबाजियों ने आगजनी व अन्य घटनाओं का नंगा नाच किया है वह असहनीय है। इसलिए ऐसे किसी भी दंगाई जिसने प्रदेश को बंधुआ बनाने का प्रयास किया है उसे बख्शा नहीं जाएगा हरियाणा सरकार ने सेवानिवृत आईपीएस अधिकारी पदमश्री प्रकाश सिंह को जाट आरक्षण प्रदर्शन के दौरान पुलिस और सिविल प्रशासन दोनों के उन सभी अधिकारियों और कर्मचारियों जिन्होंने अपनी ड्यूटी के दौरान कौताही व चूक की है की जांच करने के लिए नियुक्त करने का निर्णय लिया है। इस प्रदर्शन के दौरान राष्ट्रीय राजमार्गों सहित सडक़ों पर ब्लोकेज लगाने हिंसा करने और कई जिलों मे सार्वजनिक और निजी सम्पतियों को भारी नुकसान हरियाणा के पुलिस महानिदेशक श्री यशपाल सिंघल ने कहा कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान मामला भडक़ाने के आरोप में पुलिस ने प्रोण् बिरेंद्र सिंह और कप्तान मानसिंह दलाल के खिलाफ केस दर्ज किया है।

Share This Post

Post Comment