कुख्यात दुर्गेश पर हाथ नहीं डाल रही पुलिस

पटना, बिहार/पुष्पारानीः स्वर्ण व्यवसायी रविकांत प्रसाद की हत्या में शामिल दुर्गेश हत्या करके कोलकाता भाग गया है। पुलिस यदि चाहती तो बहुत पहले ही दुर्गेश पकड़ा गया है। पुलिस यदि चाहती तो बहुत पहले ही दुर्गेश पकड़ा जाता और स्वर्ण व्यवसायी के साथ कई लोगों की जान भी बच जाती। दुर्गेश रंगदारी लेता रहा और पुलिस जानकर भी बेखबर रही। अपराधी दुर्गेश छपरा के गरखा थाने के फुलवरिया गांव का रहने वाला है पर उसने अपना अड्डा मैनपुरा में बना रखा है। दुर्गेश कोलकाता में बिजनेस फैला रखा है। मोबाइल टाॅवर का टेंडर लेने का काम करता है। हालांकि उसका लोकेशन का पता नहीं लग पा रहा है। उसके पास मोबाइल फोन और जितने भी सिम है वह सब स्वीच आॅफ है। न्यू सोनाली ज्वेलर्स के मालिक रविकांत को दिनदहाड़े गोली मारकर मौत की नींद सुलाने वाला अब तक फरार है। रविकांत को आग देने के बाद उसके पिता की भी हार्ट अटैक से मौत हो गई। फिर मां की भी मृत्यु हो गई और अब रविकांत की पत्नी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। काफी गंभीर है। तीनों बच्चे अब क्या करेंगे। क्योंकि अनाथ हो गए है। पूरा परिवार तबाही के राह पर खड़ा है।

Share This Post

Post Comment