ग्राम सुधार सभा ने मनाया प्रकाश पुर्व

विजय मलहोत्रा, गुरदासपुर/पंजाबः ग्राम सुधार सभा बहरामपुर द्वारा विजय सलारिया की अध्यक्षता में श्री गुरू गोविंद सिंह जी का जन्म दिवस मनाया गया। गुरू जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए सभा के अध्यक्ष विजय सलारिया ने बच्चों को बताया कि एक योद्वा होते हुए गुरू गोविंद सिंह जी एक दयालू दृश्य के भी थे। उनके तीरों की नोक पर सोना जड़ा होता था क्योंकि गुरू जी की सोच थी कि मैदान ए जंग में जब इन तीरों के प्रहार से दुश्मन के सिपाही घायल होंगे तो उनमें त्राही मचेगी, भूखमरी बढ़गी तो भूख प्यास से विलख रहे बच्चों बूढ़ो की देखभाल करने में यह सोना काम आएगा। अंत तक देश की आन वान और शान को बरकरार रखते हुए उनका पूरा परिवार बिखर गया फिर भी परमात्मा में उनका पूरा विश्वास बना रहा जो उनकी अंतिम रचना जफरनामा में प्रकट हुआ। समस्त समाज को ऐसे महान योद्धाओं और गुरूओं के जीवन से प्रेरणा लेकर अपने अंदर देश सेवा की भावना पैदा करनी चाहिए। इस मौके पर पुलिस थाना सांझा केंद्र के आॅपरेटर सतपाल संतोश सिंह संदीप मुकेश हरसिमानजीत कौर गगू काका बलबीर चंद धीरज तथा बहुत से स्कूली बच्चे उपस्थित थे।

Share This Post

Post Comment