मेरठ के खरखौदा थानाक्षेत्र से करीब 25 लाख रूपये लूटकर भागे बदमाशों व पुलिस के बीच जमकर हुई मुठभेड

प्रधान सैलोर, इंदौर/एमपीः मेरठ जनपद के थाना खरखौदा क्षेत्र के एक मीट व्यवसाई से करीब 25 लाख रूपये की नकदी से भरा बैग लूटकर फरार हुये चार कार सवार बदमाशों को सयुक्त रूप से काबिंग कर गाजियाबाद व मेरठ पुलिस ने निवाड़ी थानात्र्गत गांव नगलामूसा के ईख के खेत में छुपे बदमाशों व पुलिस के बीच कई राॅउड फायरिंग के बाद पुलिस ने दो बदमाशों को जंहा मुठभेड़ के बाद व एक बदमाशा द्वारा पुलिस कार्रवाही से घबराकर स्वयं सरेंडर करने पर गिरफ्तार किया है। पुलिस व बदमाशों के बीच दोनों ओर से करीब तीन घंटे चली गोलीबारी में दो बदमाश व एक पुलिस आरक्षी बुरी तरह घायल हो गये है। श्याम नगर निवासी आस मौहम्मद कुरैशी पुत्र अब्दुल मीट व्यवसाई है। वह वीरवार की सुबह करीब 10.45 मिनट पर अपनी कार में सवार होकर घर से मेरठ की हापुड़ रोड़ स्थित हाजी याकूब की अल फ्ईम नामक फर्म में 25 लाख रूपये देने जा रहा था। इसी बीच मेरठ हापुड़ रोड पर स्फ्टि बीडीआई कार में सवार चार हथियारबंद बदमाशों ने ओवरटेक कर आस मौहम्मद को रोक लिया और हथियारों से आतंकित कर उससे 25.50 लाख रूप्यों से भरा बैग लूट लिया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देते हुये कार में सवार हो बदमाश खरखौदा मोदीनगर मार्ग की और फरार हो गये। घटना की सूचना पीडि़त द्वारा थाना खरखैदा को दी गई। घटना की सूचना खरखौदा पुलिस ने थाना मोदीनगर व मेरठ पुलिस को फ्लैस की। जिस पर मोदीनगर , निवाड़ी, गाजियाबाद सहित कई थानों की पुलिस ने बदमाशों का पीछा कर उन्हें गांव नगलामूसा के निकट चारों और से घेर लिया। अपने आपको पुलिस से घिरता देख बदमाश सौंदा पुलिया के पास कार को छोड़कर गांव के निकट ही एक ईख के खेत में जा छुपे। पुलिस ने बदमाशों को ललकार कोई प्रतिक्रिया न होने पर पुलिस ने ग्रामीणों की सहायता से बदमाशों को पकड़ने का प्रयास किया। इसी बीच गांव का चैकीदार शीशपाल पुलिस को साथ लेकर खेत में जा घुसा अंदर बैठे तीन बदमाशों ने मोदीनगर की कस्बा चैकी पर तैनात आरक्षी अनिल की इंशान रायफल को अपने कब्जे ले लिया और उसे अपना अपना निशाना बनाते हुये उसके पेट व टांग में एक एक गोली मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। इस बीच रूपयों से भरा बैंग चैकीदार लेकर खेत से बाहर आ गया और उसने पुलिस को सौप दिया। घायल सिपाही आरक्षी अनिल को आनन फानन में पुलिस ने प्राथमिक उपचार के लिये भेजा। कुछ देर बाद खेत में छुपे एक बदमाशों में से एक बदमाश ने पुलिस के समक्ष समर्पण कर दिया। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। अन्य छुपे बदमाशों व पुलिस के बीच करीब तीन घंटे तक जमकर हुई मुठभेड व कई राॅउंड फायरिंग के बाद पुलिस ने दो बदमाशों को भी किसी तरह धर दबोचा। पुलिस द्वारा हुई गोली बारी में दोनों बदमाश बुरी तरह घायल हो गये। पुलिस ने दोनों बदमाशों को उपचार के लिये अस्पताल पंहुचाया। लेकिन पुलिस को शक था कि ईख के अंदर एक चैथा बदमाश भी मौजूद है। काफी मशक्कत के बाद पुलिस चैथे बदमाश को नही पकड़ पाई। मौके पर पहुंचे एसएसपी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि पकड़े गये तीनों बदमाशों में से घायल अमित, प्रदीप लोनी व बागपत तथा आत्म समर्पण करने वाला विक्की मुरादनगर बताया गया है। इन गिरफ्तार बदमाशों का चैथा साथी रास्ते में ही कार से कही कूद गया था।

Share This Post

Post Comment