कुपोषित बच्चों के पोषण को लेकर उभरी समस्याएं

मंुबई, महाराष्ट्र।नगर संवाददाता। नवी मुंबई में कुपाषित बच्चों के लिए सरकार ने प्रतिमाह एक हजार रूपये का अनुदान शुरू किया था। इस अनुदान में बच्चों को पौष्टिक आहार के साथ ही औषधोपचार दिया जाता है। अनुदान की राशि आरोग्य विभाग की तरफ से पंचायत समिति को हस्तांतरित की जाती है। उसके बाद यह राशि कुपोषित बच्चों तक पहुंचाई जाती है। पर यह योजना बंद किये जाने के बाद ग्रामीण इलाके में कुपोषित बच्चों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

Share This Post

Post Comment