गोरखपुर बस स्टाप पर परिवहन निगम के ड्राइवर व कंडक्टर की तानाशाही

अख्तर हुसैन, कुशीनगर/यूपीः गोरखपुर बस स्टाॅप से कुशीनगर जिले के हाटा सुकरौली व सोनवरसा की यात्रा करने वाले लोगों को आये दिन कठिनाइयों का सामना करना पडता है। उत्तर प्रदेश परिवहन की बसों का उक्त जगहो पर स्टापेज होने के बाद भी ड्राइवर व कंडक्टर हाटा सुकरौली व सोनवरसा के यात्रियों को यह कहते हुये उतार देते हैं कि यह गाड़ी हाटा सुकरौली नहीं रूकेगी जबकि हाटा की दूरी 40 किमी. है। गोरखपुर से हाटा की दूरी 40 किमी. है। प्रायः यात्रियों की ड्राइवर व कंडक्टर के बीच नोक झोंक होती रहती है। 25 अक्टूबर 2015 को हाटा निवासी एक व्यक्ति अपने परिवार के साथ उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बस पे चढ़ा ड्राइवर के पूछने पर बताया हाटा जाना है इस पर ड्राइवर ने नाराज होते हुए उतरने के लिए कहा उस व्यक्ति ने हाटा में स्टापेज होने की बात कही तो ड्राइवर और कंडक्टर भड़क गए। और पड़रौना से पहले गाड़ी न रोकने की बात दोहराई वह व्यक्ति भी नियमों का हवाला देते हुए उसी गाड़ी से यात्रा करने की जिद पे अड़ गया। ड्राइवर गोरखपुर से पडरौना के बीच में गाड़ी न रोकने की धमकी रास्ते भर देते रहे इस पर उक्त व्यक्ति ने फोन पर घटना की जानकारी अपने परिजनों को दे दी। उनके परिजन हाकी डंडे से लैस होकर हाटा बस स्टाप पर पहुंच गए और गाड़ी पहुंचते ही कंडक्टर और ड्राइवर पर टूट पड़े। जिससे ड्राइवर बुरी तरह घायल हो गया। हालत गंभीर होने पर प्राथमिक उपचार केंद्र गए। फिर वहां से उसे गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। घटना स्थल पर पुलिस के पहुचने से पहले आरोपी वहां से फरार हो गए। बार-बार शिकायत करने के बाद भी यूपी परिवहन विभाग के अधिकारी इस समस्या को अनदेखा कर रहे है। अगर यही समस्या बनी रही तो भविष्य में कोई बड़ी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता।

Share This Post

Post Comment