नई दिल्ली। सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल ने मंगलवार को बगैर इंटरनेट अथवा डेटा कनेक्शन के सोशल मीडिया फेसबुक चलाने वाली सेवा पेश की। कंपनी ने एक विज्ञप्ति मे बताया कि इस सेवा के लिए उपभोक्ताओं को तीन दिन के लिए…

कैलिफोर्निया। आपने कभी सोचा है कि जब आप इंटरनेट सर्फि ग या चैटिंग में व्यस्त होते हैं, तब 4.8 अरब लोग या दुनिया की दो तिहाई आबादी ऑनलाइन नहीं होती। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। गूगल 180 उपग्रह लांच करने…

वाशिंगटन। अभी तक इलेक्ट्रिक केबल सिर्फ बिजली पहुंचाने के उपयोग में काम आता है। लेकिन जल्द ही आप अपने एमपी3 प्लेयर, स्मार्टफोन और इलेक्ट्रिक कार को केबल से चार्ज करने में सक्षम हो सकेंगे। क्योंकि ये तार ऊर्जा का संग्रह…

टोरंटो। कनाडा के एक दंपति के लिए उस समय खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा जब उनका खोया पांच करोड़ डॉलर (करीब 2.9 अरब रुपये) की लॉटरी का टिकट एक व्यक्ति ने लौटा दिया। मूल रूप से नाइजीरिया के हकीम…

वाशिंगटन। खगोलशास्त्रियों ने ब्रह्मांड में अब तक खोजे गए ग्रहों से भी कहीं ज्यादा बड़े ग्रह का पता लगाया है। नया ग्रह वजन में धरती से 17 गुना ज्यादा वजनदार और आकार में दो गुना बड़ा है। इसके आकार-प्रकार और…

नई दिल्ली। देश में माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के प्रयोगकर्ताओं की संख्या इस साल के अंत तक दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंच जाएगी। अनुसंधान फर्म ईमार्केटर के अनुसार 2014 के अंत तक देश में ट्वीट करने वाले लोगों संख्या…

नई दिल्ली। इंटरनेट सर्च कंपनी गूगल ने अब एक ऐसी 100 कारें बनानी शुरू कर दी है, जिनमें एक सामान्य कार सभी कंट्रोल सिस्टम यानी स्टियरिंग व्हील, क्लच, ब्रेक वगैरह नहीं होंगे। सूत्रों के मुताबिक पूरी तरह से बिजली से…

लंदन। एक स्थानीय आदिवासी कलाकार के 100 चित्रों से सुसज्जित मराठा योद्धा शिवाजी पर एक पुस्तक का लोकार्पण यहां हाउस ऑफ कॉमन्स में किया गया। इस सबंध में कल रात हाउस ऑफ कॉमन्स के चर्चिल रूम में एक समारोह आयोजित…

वाशिंगटन। नासा ने बड़े सूरजमुखी की तरह दिखने वाले एक अंतरिक्षयान का विकास किया है तो पृथ्वी से मिलते-जुलते ग्रहों की तलाश करेगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा कि इस अंतरिक्षयान का इस्तेमाल पृथ्वी जैसे ग्रहों की तस्वीरें लेने…

आज के इस महंगाई के दौर में जहां हर चीज महंगी है, हंसी ही सस्ती क्यों रहे, सो हंसी भी महंगी हो गई है जिसे लोग सोच-समझ के बहुत थोड़ा-थोड़ा खर्च करते हैं। आज जीवन शैली ही ऐसी बन गई…

कहते हैं ‘मेडिटेशन इज माइंड विदाउट एजिटेशन, ध्यान से मन शांत निर्विकार होता है इसमें दो राय नहीं। ध्यान में अपने चित्त की गतिविधि को देहगत संवेदना को तटस्थ बनकर, सिर्फ साक्षी के तौर पर देखा जाता है।  अपने को…

आजादी के 60 वर्षों में हमने अपनी खाने की आदतों के बारे में क्या विचार किया इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि हम बेहिसाब खाने वाला देश बन गए। हमारी संस्कृति और सभ्यता में खान-पान आकर्षण का विषय रहा लेकिन…